शोले फिल्म की अनसुनी अनोखी बातें जिन्हे जानकर आप कहेंगे वाह

    0
    73

    Welcome to Xossip. हमारे भारतीय सिनेमा जगत की एक मात्र ऐसी फिल्म जिसने न केवल भारत बल्कि पडोसी मुल्क पकिस्तान पर भी अपनी अमिट छाप छोड़ी थी | 15 अगस्त 1975 में रिलीस हुई शोले फिल्म ने पुरे भारतीय सिनेमा में तहलका मचा दिया था | वहीँ इस ब्लॉकबस्टर मूवी से कुछ ऐसी बातें जुडी हुई है जिसे हर कोई नही जनता |

    आज हम उन्ही बातों को बताने जा रहे है, जो आपके दिमाग को एक बार फिर से चकराने के लिए तैयार है|

    1.

    ये बात बहुत ही कम लोग जानते है कि जब शोले फिल्म बन रही थी उन दिनों धरम पाजी हेमा मालिनी के प्यार में दीवाने थे , और जब उसी मोहतरमा के साथ काम करने का मौका मिल रहा था तो वे पीछे क्यों रहेंगे |इसी लिए धरम पाजी अक्सर स्पॉट बॉय को पैसे खिलाया करते थे ताकि स्पॉट बॉय बार बार ससेने को ख़राब करता रहे और धरम पाजी को हेमा मालिनी के साथ रोमांस करने के कई मौके मिलते जाए |

    2.

    हेमा मालिनी के हुस्न के दीवाने धरम पाजी के अलावा भी कई और कलाकार रहे है उनमे से शोले फिल्म में ठाकुर साहब की अहम् भूमिका निभा रहे उस वक़्त के सुपरस्टार संजीव कुमार भी थे जो हेमा जी की ख़ूबसूरती के दीवाने थे, शूटिंग के कुछ ही दिनों बाद संजीव कुमार ने हौसला करके हेमा जी को सीधे शादी का प्रस्ताव दे डाला, खैर आगे तो आप जानते ही है क्या हुआ होगा |

    3.

    शोले फिल्म की रीढ़ की हड्डी कहे जाने वाले किरदार को भला कौन भूल सकता है | जी हाँ! गब्बर सिंह की भूमिका निभा रहे अमज़द खान साहब | फिल्म में अमज़द खान उर्फ़ गब्बर जिस खाकी वर्दी के पहनावे में घूमता है, उस वर्दी को पुरे ढाई साल की शूटिंग के दौरान एक बार भी नही धोया गया, और जो ये खाकी वर्दी गब्बर सिंह ने पहन रखी थी उसे मुब्बाई के चोर बाज़ार से ख़रीदा गया था |

    Also Read: भारत के इतिहास के 10 ऐसे झूठ जिसे अब तक हम सब लोग सच मानते आए है!

    4.

    अब ये थोड़ी समझ से परे वाली बात है कि इस फिल्म को बनाने में ढाई साल का वक़्त लगा था, इस फिल्म के ट्रेन वाले ससेने को फिल्माने में सिप्पी साहब को पचास दिन का समय लग गया था और इस फिल्म के मशहूर गड़ाने “यह दोस्ती हम नही तोड़ेंगे” को फिल्माने में करीब सत्तर दिन का समय लग गया था| बड़ी हैरानी वाली बात है नही तो आज के समय में इतने वक़्त में दो से तीन फिल्मों का निर्माण हो जाता है |

    5.

    शोले फिल्म की अनसुनी अनोखी बातें

    इस फिल्म के किरदार सुरमा भोपाली, बसंती, जय और वीरू एक असल जिंदगी से उठाये गये किरदार है, भारतीय सिनेमा जगत में ऐसी कोई फिल्म नही हुई जो लगतार पाच सालों तक किसी सिनेमाघर में लगी रही हो, जिस फिल्म को रिलीज़ होने के 42 साल बाद भी देखा जा रहा है इसका मतलब तो यह हुआ कि उस समय तो फिल्म की दीवानगी लोगो के सर पर छड़ी हुई थी |

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here